Avocado in Hindi|एवोकाडो|avocado meaning in Hindi

स्वस्थ शरीर और सेहत के लिए पौष्टिक आहार का सेवन बहुत जरूरी है। इस कार्य में फल महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। क्योंकि इसमें बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं। कुछ ऐसे फल हैं जिन्हें आप जानते हैं, जो सेहत के लिए सुपरफूड में शामिल हैं। एवोकैडो एक ऐसा फल है जैसे केला, सेब, अनार, अंगूर, चीकू आदि।

एवोकैडो दुनिया में सबसे लोकप्रिय फलों में से एक है। इसका स्वाद थोड़ा मक्खन जैसा होता है, इसलिए इसे बटर फ्रूट भी कहा जाता है।

avocado in hindi name

Avocado ( एवोकाडो ) – रुचिरा, मक्खन फल, एवोकैडो पियर

एवोकाडो क्या है? (avocado in hindi)

एवोकाडो को वैज्ञानिक रूप से फारस अमेरिकाना कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस विशेष फल की उत्पत्ति लगभग सात हजार साल पहले दक्षिणी मैक्सिको और कोलंबिया में हुई थी। यह बेर जैसा बड़ा फल होता है। जिसका बीज बड़ा हो।

साथ ही अपने बड़े आकार के कारण, इस घड़ियाल घाट को हिंदी में रुचिरा या बटरफ्रूट के नाम से भी जाना जाता है।

लोग अक्सर सोचते हैं कि एवोकाडो एक फल है या सब्जी..? दरअसल, एवोकाडो एक फल है। एवोकाडो नमकीन और मीठे दोनों तरह के खाद्य पदार्थों में पाया जाता है।

एवोकाडो फैटी एसिड के साथ-साथ विटामिन ए, बी, ई, फाइबर, खनिज और प्रोटीन से भरपूर होते हैं। यह गहरे हरे रंग का फल है। एवोकाडो में शुगर की मात्रा कम होती है।

इसके अलावा, एवोकाडो भी ऊर्जा का एक उत्कृष्ट स्रोत है। एवोकाडो कई बीमारियों से राहत दिलाने में फायदेमंद हो सकता है। रक्तचाप, हृदय स्वास्थ्य, मस्तिष्क शक्ति, बाल, त्वचा कोलेस्ट्रॉल को सामान्य करने के लिए वजन घटाने के अलावा कई बीमारियों में एवोकाडो फायदेमंद हो सकता है।

avocado meaning in hindi

avocado in hindi

avocado fruit in hindi

एवोकाडो में पोषक तत्व

  • प्रोटीन – 2 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट – 8.53 g
  • आहार फाइबर – 6.7 ग्राम
  • वसा – 14.66 ग्राम
  • विटामिन सी – 10 मिलीग्राम
  • विटामिन बी6 – 0.257 मिलीग्राम
  • विटामिन ई – 2.07 मिलीग्राम
  • शक्कर – 0.66 ग्राम
  • कैल्शियम – 12 मिलीग्राम
  • सोडियम – 7 मिलीग्राम
  • आयरन – 0.55 मिलीग्राम
  • पोटेशियम – 485 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम – 29 मिलीग्राम
  • फास्फोरस – 52 मिलीग्राम
  • कॉपर – 0.19 मिलीग्राम
  • जिंक – 0.64 मिलीग्राम
  • राइबोफ्लेविन बी2 – 0.13 मिलीग्राम
  • संतृप्त – 2.13 ग्राम
  • मोनोअनसैचुरेटेड – 9.80 ग्राम
  • थायमिन – 0.067 मिलीग्राम

एवोकाडो फल के फायदे – avocado ke fayde (Benefits of Avocado in Hindi)

एवोकाडो के चमत्कारी फायदे ऐसे हैं जिन्हें देखकर आप हैरान रह जाएंगे। एवोकाडो को आमतौर पर कच्चा ही खाया जाता है। इसके अलावा, एवोकैडो का उपयोग मिठाई और सलाद के रूप में भी किया जाता है। एवोकाडो फल विभिन्न पोषक तत्वों, विटामिन और खनिजों में समृद्ध है।

यह मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड का अच्छा स्रोत है। इसमें शुगर भी कम होती है। साथ ही यह ऊर्जा का अच्छा स्रोत है। एवोकाडो में कई आवश्यक विटामिन और खनिज होते हैं।

एवोकाडो में लोहा, मैग्नीशियम, पोटेशियम, तांबा, मैंगनीज, कैल्शियम और जस्ता भी होता है। इसके अलावा एवोकाडो के कुछ और फायदे नीचे दिए गए हैं..! आइए एक-एक करके इसके बारे में जानते हैं..!

कैंसर के खतरे को कम करता है।

एवोकाडो का उपयोग कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों को रोकने के लिए भी किया जा सकता है। यह शोध में सिद्ध हो चुका है।

शोध के अनुसार, एवोकाडो प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोक सकता है। इसके लिए इस फल में मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैट और फाइटोकेमिकल्स काम आ सकते हैं। यह भी माना जाता है कि एवोकाडो में मौजूद यह फाइटोकेमिकल कैंसर कोशिकाओं को रोकता है।

इससे कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है। इसके अलावा, इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स एसोफेजेल और आंतों के कैंसर के खतरे को प्रभावी ढंग से कम कर सकते हैं।

एवोकाडो के सेवन से ब्रेस्ट कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम होता है। एवोकाडो में कैरोटेनॉयड्स और मोनोअनसैचुरेटेड फैट्स होते हैं, जो दोनों ही कैंसर में महत्वपूर्ण कमी पैदा कर सकते हैं। एवोकैडो में ग्लूटाथियोन भी होता है।

जो एक एंटीऑक्सीडेंट है। जो कैंसर सेल्स और फ्री रेडिकल्स के खतरनाक प्रभावों से बचाता है। इन सभी कारकों को ध्यान में रखते हुए यह माना जा सकता है कि एवोकाडो फल के सेवन से कैंसर के खतरे को कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जिसके लिए समय पर चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है।

लीवर के स्वास्थ्य में मदद करता है।

लीवर शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। एवोकाडो लीवर को खराब होने से बचाता है। शोध से पता चला है कि एवोकाडो लीवर को कई बीमारियों से बचाता है और लीवर को मजबूत बनाता है।

शोध में यह भी पाया गया है कि एवोकाडो गैर-अल्कोहल फैटी लीवर की समस्याओं जैसे वजन बढ़ने और लीवर की सूजन को खत्म करने में मदद करता है। इन जोखिम कारकों को नियंत्रित करके, यह फल फैटी लीवर की समस्याओं को खत्म करने में मदद कर सकता है। ऐसा कहा जा सकता है कि एवोकाडो का सेवन लीवर के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है।

गुर्दे की सुरक्षा के लिए उपयोगी

किडनी को स्वस्थ और सुरक्षित रखने के लिए भी एवोकाडो फल का सेवन फायदेमंद माना जा सकता है। शोध से पता चला है कि एवोकाडो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है।

एवोकाडो फल का सेवन फ्री रेडिकल्स से होने वाले लीवर को होने वाले नुकसान को रोक सकता है। एवोकाडो के बीज का पाउडर किडनी की कार्यक्षमता में सुधार कर सकता है। इस वजह से एवोकाडो के बीज का पाउडर भी किडनी के लिए उपयोगी माना जा सकता है।

दिल की सेहत के लिए फायदेमंद

एवोकाडो दिल को स्वस्थ रखने के लिए भी बहुत उपयोगी होता है। एवोकाडो में बीटा-साइटोस्टेरॉल होता है। जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और हृदय रोग से दूर रखता है। शोध से पता चला है कि नियमित रूप से एवोकाडो खाने से एचडीएल का स्तर कम हो सकता है। कोलेस्ट्रॉल के एंटीएथेरोजेनिक गुणों को बढ़ाता है।

जो दिल को एथेरोस्क्लेरोसिस से दूर रखता है। इन फलों में मौजूद पोटेशियम उच्च रक्तचाप से लड़ता है और रक्त वाहिकाओं और धमनियों के तनाव को कम करता है। इससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा कम होता है।

भोजन के पाचन में लाभकारी

शोध से पता चला है कि एवोकैडो आंतों के कार्यों को सुगम बनाता है और भोजन को आसानी से पचाता है। इसमें घुलनशील और अघुलनशील फाइबर होते हैं। जो पाचन तंत्र के कामकाज में सुधार करता है।

ये दो फाइबर हैं जो भोजन को पचाने के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि ये मल बनाने में मदद करते हैं। यह आंतों को भोजन को आसानी से पचाने और इसके कार्यों को सुविधाजनक बनाने की अनुमति देता है।

वे गैस्ट्रिक और पाचक रस को उत्तेजित करते हैं। जिससे शरीर पोषक तत्वों को आसानी से अवशोषित कर लेता है। इससे दस्त और कब्ज नहीं होता है। तो स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद

सिर पर बालों और त्वचा का स्वास्थ्य सभी के लिए बहुत जरूरी है, एवोकाडो में पोषक तत्व होते हैं। जो त्वचा को स्वस्थ बनाता है। यह रूखी और क्षतिग्रस्त त्वचा को हटाकर त्वचा को मुलायम बनाता है।

एवोकाडो में विटामिन ए, बी, बी-1, बी-2, ई और पोषक तत्वों की मौजूदगी के कारण सौंदर्य प्रसाधनों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। जो त्वचा को चमकदार और खूबसूरत बनाता है।

यह सूखे और क्षतिग्रस्त बालों को पोषण भी प्रदान करता है। एवोकाडो में बीटा कैरोटीन और लाइकोपीन जैसे दो कार्बनिक यौगिक बड़ी मात्रा में पाए जाते हैं। जो त्वचा को टोन करता है और इस तरह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है।

आंखों के लिए फायदेमंद

एवोकाडो के फायदे आंखों के लिए भी देखे जा सकते हैं। एवोकाडो में ल्यूटिन और ज़ेक्सैन्थिन जैसे कैरोटेनॉयड्स भरपूर मात्रा में होते हैं, जो आँखों के स्वास्थ्य को बनाए रख सकते हैं। वहां, ल्यूटिन उम्र बढ़ने के कारण होने वाले मोतियाबिंद और आंखों के रोगों से आंखों की रक्षा करता है।

अधिकांश नेत्र रोगों के कारण आंखों के ऊतकों में मुक्त कण जमा होते हैं। एवोकाडो में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और कैरोटेनॉयड्स आंखों में फ्री रेडिकल्स के खतरे को कम करते हैं और आंखों को स्वस्थ रखते हैं।

हड्डियों को मजबूत करता है।

कच्चे एवोकैडो में बोरॉन नामक खनिज पाया जाता है। जो कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाकर हड्डियों को फायदा पहुंचा सकता है। यह विशेष फल विटामिन-के से भरपूर होता है।

जो हड्डियों के स्वास्थ्य में अहम भूमिका निभाता है। यह पोषक तत्व ऑस्टियोप्रोटेक्टिव (हड्डियों को मजबूत बनाने वाले) पोषक तत्व प्रदान करता है। साथ ही, इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी (एंटी-इंफ्लेमेटरी) गुण होते हैं। यह जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करने में मददगार हो सकता है।

वजन कम करने में मदद करता है।

शोध से पता चला है कि एवोकाडो में कैलोरी की मात्रा कम होती है, जो उन्हें वजन नियंत्रण के लिए फायदेमंद बनाता है। साथ ही इसमें मौजूद फाइबर पाचन क्रिया को मजबूत करने के साथ-साथ वसा के अवशोषण को कम करने में मदद कर सकता है।

साथ ही इसमें मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड फैट को कम करने में मदद कर सकता है। यह वजन बढ़ाने को कम करने में काफी मददगार साबित हो सकता है।

गठिया से राहत दिलाता है।

एवोकाडो में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो गठिया के इलाज में उपयोगी होते हैं। इसमें फाइटोकेमिकल्स, फेनोइड्स, कैरोटेनॉयड्स, फाइटोस्टेरॉल, फैटी अल्कोहल और ओमेगा -3 फैटी एसिड होते हैं।

जो पैरों, जोड़ों और मांसपेशियों की सूजन को कम करता है और गठिया से बचाता है। दुनिया भर में लोग गठिया से बचाव और स्वस्थ रहने के लिए एवोकाडो का सेवन करते हैं।

ओरल हेल्थ के लिए फायदेमंद

अगर आपकी सांसों से दुर्गंध आती है, तो एवोकाडो खाने से सांसों की दुर्गंध से छुटकारा मिलता है। जो आमतौर पर भोजन के पचने और पेट खराब होने के कारण होता है। उचित पाचन सांसों की दुर्गंध से छुटकारा पाने में मदद करता है।

एवोकाडो में मौजूद जीवाणुनाशक और एंटीऑक्सीडेंट फ्लेवोनॉयड मुंह में बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद करता है। साथ ही एवोकाडो आपको मुंह के कैंसर से बचाता है।

मधुमेह को नियंत्रित करता है।

एवोकाडो टाइप-2 डायबिटीज में फायदेमंद हो सकता है। शोध से पता चला है कि मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड लिपिड प्रोफाइल में सुधार करके रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं। इसी वजह से एवोकाडो का सेवन करना चाहिए क्योंकि यह डायबिटिक है।

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है।

एवोकाडो लिपिड प्रोफाइल में सुधार कर सकता है। यह उच्च कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित करता है।इस आधार पर हम कह सकते हैं कि एवोकाडो का सेवन उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है। तो एवोकाडो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए एकदम सही है।

एवोकाडो का उपयोग कैसे करें..?

  • सुबह नाश्ते में एवोकाडो को ब्रेड ऑमलेट के साथ खाएं।
  • एवोकाडो को सलाद (फ्रूट सलाद) के रूप में खाएं।
  • ग्रिल्ड ब्रेड सैंडविच में एवोकाडो डालके खाएं।
  • एवोकाडो आइसक्रीम बनाएं और खाएं।
  • आप एवोकाडो फ्रेंच फ्राइज भी खा सकते हैं।

एवोकाडो खाने के नुकसान

एवोकैडो फल सेहत के लिए फायदेमंद होता है। एवोकाडो खाने से आपको कई तरह से फायदा हो सकता है। साथ ही एवोकाडो का अधिक सेवन बहुत हानिकारक हो सकता है। आइए एक नजर डालते हैं ज्यादा एवोकाडो खाने से होने वाले साइड इफेक्ट्स पर।

  • कुछ लोगों को एवोकाडो से एलर्जी हो सकती है।
  • कम कैलोरी वाले एवोकाडो वजन घटाने के लिए अच्छे होते हैं, लेकिन वे वसा में भी अधिक होते हैं। इसलिए इसके अधिक सेवन से वजन बढ़ सकता है। इसलिए मोटे लोगों को ज्यादा एवोकाडो का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • एवोकाडो का सेवन कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकता है। अगर आप बहुत ज्यादा एवोकाडो खाते हैं तो यह आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है।

एवोकाडो के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ’s)

Q1. – आप एक दिन में कितने एवोकाडो खा सकते हैं?
Ans.- एक दिन में आधा एवोकाडो फल (68 ग्राम) खा सकते हैं।

Q2. – क्या मैं कच्चा एवोकाडो खा सकता हूं?
Ans.- हां, एवोकाडो को कच्चा खाया जाता है।

Q3. – क्या एवोकाडो फल खाली पेट खाया जा सकता है?
Ans.- एवोकाडो का खाली पेट सेवन करने से गैस और पेट दर्द हो सकता है।

Leave a comment